shayrana.org
किस पर हक कितना है … | Shayrana.org
किस पर हक कितना है रिश्तों में शक कितना है। इमारत ऊँची है तो लेकिन इसमें इक घर कितना है। है मेल नहीं जुबाँ आँखों में लोगों में डर कितना है। बँगला,गाड़ी,मोटर सब हैं झुका हुआ सर कितना है। भूत भविष्य की चिंता है आज में कल कितना है। हैं मीठी मीठी बातें उनकी भीतर में छल कितना है। अपने अपने रूह को तौलें फिर देखें बल कितना है। #नीलाभ