shayrana.org
नहीं भाता अब तेरे … | Shayrana.org
नहीं भाता अब तेरे सिवा किसी और का चेहरा, तुझे देखना और देखते रहना दस्तूर बन गया है। #ऋषि