shayrana.org
क्यूं हाथों की … | Shayrana.org
क्यूं हाथों की लकीरों को देखते हो, बाजू में हम खड़े हैं जरा नजरें तो घुमाओ। . SHoaiB