shayrana.org
Izze ahle sitam ki baat karo | Shayrana.org
इज्ज़े अहले-सितम की बात करो इश्क़ के दम-क़दम की बात करोबज़्मे-अहले-तरब से शरमाओबज़्मे-असहाबे-ग़म की बात करोबज़्मे-सरवत के खुशनसीबों सेअज़्मते-चश्मे-नम की बात करोहै वही बात यूं भी और यूं भीतुम सितम या करम की बात करोख़ैर, हैं अहले-दैर जैसे हैंआप अहले-हरम की बात करोहिज़्र की शब तो कट ही जायेगीरोज़े-वस्ले-सनम की बात करोजान जायेंगे जानने वालेफ़ैज़ फ़रहादो-जम की बात करो Faiz ahmed faiz