shayrana.org
Husn marhoon e josh e bada e naaz | Shayrana.org
हुस्न मरहून-ए-जोश-ए-बादा-ए-नाज़ इश्क़ मिन्नतकश-ए-फुसून-ए-नियाज़ दिल का हर तार लरज़िश-ए-पैहमजां का हर रिश्त वक़्फ़-ए-सोज़-ओ-गुदाज़ सोज़िश-ए-दर्द-ए-दिल किसे मालूमकौन जाने किसी के इश्क़ का राज़ मेरी ख़ामोशियों मे लरज़ां हैंमेरे नालों के गुमशुदा आवाज़ हो चुका इश्क़ अब हवस ही सहीक्या करें फर्ज़ है अदा-ए-नमाज़ तू है और एक तग़ाफ़ुल-ए-पैहममैं हूं और इन्तज़ार-ए-बेअंदाज़ ख़ौफ़-ए-नाकामी-ए-उम्मीद है फ़ैज़वर्ना दिल तोड़ दे तिलिस्म-ए-मजाज़ Faiz ahmed faiz