shayrana.org
Zid | Shayrana.org
ना जाने इस ज़िद का नतिजा क्या होगा.... समझता दिल भी नहीं..., मैं भी नहीं..., और तुम भी नहीं