shailism.com
मैं ना टूटूँगा-कविताएँ - Shailism
मैं ना टूटूँगा-कविताएँ टूटते ख़्वाबों, टूटते पंखो के बावजूद उस मुक़ाम पर पूछने की यात्रा है जँहा बंजर ज़मीन भी एक आस लगा उसकी तरफ़ देखती है। #कविताएँ #shailism