poshampa.org
कहानी: 'अनमोल भेंट' - रवीन्द्रनाथ टैगोर - पोषम पा
Hindi Kahani: 'Anmol Bhent' by Rabindranath Tagore. रायचरण बारह वर्ष की आयु से अपने मालिक का बच्‍चा खिलाने पर नौकर हुआ था। उसके पश्चात् काफी समय बीत गया। नन्हा बच्‍चा रायचरण की गोद से निकलकर स्कूल में प्रविष्ट हुआ, स्कूल से कॉलिज में पहुँचा, फिर एक सरकारी स्थान पर लग गया। किन्तु रायचरण अब भी बच्‍चा खिलाता था, यह...