news4thepeople.com
शोले की तर्ज पर पैमाना बन गयी है बाहुबली-2, वरिष्ठ पत्रकार उल्लास दास के फेसबुक वॉल से
आपने शोले देखी, नहीं देखी मतलब फिल्मों में रुचि नहीं है। ऐसे ही अब 42 साल बाद सवाल पूछे जा रहे हैं बाहुबली देखी?
N4P Network