hindilekhak.com
अन्वय
अन्वय कर्ता और क्रिया का मेल : – यदि कर्तृवाच्य वाक्य में कर्त्ता विभक्त्तिरहित है, तो उसकी क्रिया के लिंग, वचन और पुरुष कर्त्ता के लिंग, वचन और पुरुष के अनुसार होंगे। जैसे – करीम किताब पढता है। सोहन मिठाई खता है। रीता घर जाती है। यदि वाक्य में एक