firstnews24x7.com
साहित्यम: अब खुशी है न कोई दर्द रुलाने वाला
इक मुसाफ़िर के सफ़र जैसी है सबकी दुनिया कोई जल्दी में कोई देर में जाने वाला
[object Object]