firstnews24x7.com
साहित्यम: गम की बारिश ने भी तेरे नक्श को धोया नहीं
जानता हूँ एक ऐसे शख्स को मैं भी 'मुनीर' गम से पत्थर हो गया लेकिन कभी रोया नहीं
[object Object]