firstnews24x7.com
न दे जो कोई तेरा साथ, तो तुही कसकर अपनी कमर.. - रवींद्रनाथ टैगोर
जलाकर अपना उर-कंकाल अकेला जलता रह चिर काल । अरे ओ पथिक अभागे रे अकेला बढ़ चल आगे रे ।
[object Object]