realshayari.com
मंजिलें तो वही है जहाँ ख्वाइशें थम जाऐ | Real Shayari
मंजिलें तो वही है जहाँ ख्वाइशें थम जाऐ