realshayari.com
जब अपनी पसंद कोई और चुरा लेता है | Real Shayari
जब अपनी पसंद कोई और चुरा लेता है