realshayari.com
दिल की धड़कन को अब एक लम्हा सबर नहीं | Real Shayari
दिल की धड़कन को अब एक लम्हा सबर नहीं